skip to Main Content
Atal Bihari Vajpayee Atal Ji Kavita
Atal Ji – एक समर्पित कविता
16th August 2018

Atal Ji – एक समर्पित कविता

अनवरत, सतत, निरंतर बिना रुके, बिना थमे, रखे बिना भेद-अंतर चलता रहेगा एक विचार जो जगाया है उसने अपने जीवन की आहुति देकर। राज-काज, राज-धर्म और धर्म सिखाया जिसने अपने वाणी की सर्वोच्च शीर्ष पर खुद भी बन गया वो…

Read More
Back To Top
×Close search
Search